Tuesday, June 22, 2010

धन (Dhan) Wealth

धन अच्छा सेवक है, परन्तु ख़राब स्वामी भी है।

एक बार सिकंदर से पूछा गया कि तुम धन क्यों एकत्र नहीं करते? तब उसका जवाब था कि इस डर से कि उसका रक्षक बनकर कहीं भ्रष्ट न हो जाऊं।